Loading... Please wait...

Narshingh Prasad Bhaduri

नृसिंहप्रसाद भादुड़ी

जन्म : 23 नवम्बर 1950 ई0, पाबना (वर्तमान बांग्लादेश) शिक्षा : एम0ए0 (संस्कृत) कोलकाता विश्वविद्यालय। स्वर्गीय महामहोपाध्याय कालीपद तर्काचार्य तथा संस्कृत कालेज, कोलकाता के पूर्व अध्यक्ष प्रो0 विष्णुपद भट्टाचार्य के सान्निध्य में अध्ययन का अवसर। सन् 1987 में प्रख्यात प्रोफेसर डॉ0 सुकुमारी भट्टाचार्य के निर्देशन में कृष्ण सम्बन्धी नाटकों पर  डॉक्टरेट। अध्यापन : नवद्वीप के विद्यासागर कॉलेज से शिक्षण प्रारंभ। सन् 1981 से कोलकाता के गुरुदास कॉलेज में अध्यापन। बंगाल की सभी प्रमुख पत्रिकाओं में विभिन्न विषयों पर शोधपरक लेख प्रकाशित। प्रिय विषय : वैष्णव दर्शन और साहित्य। बौद्ध दर्शन और उनके साहित्य के प्रति भी विशेष अनुराग। बचपन भले ही धार्मिक संकीर्णताओं के बीज गुजरा पर बाद में संस्कृत साहित्य ने ही मुक्त चिन्तन की ओर प्रेरित किया तथा उदार जीवन दृष्टि दी। प्रमुख पुस्तकें : ‘महाभारत के छह प्रवीण', ‘कृष्णा, कुन्ती और कौन्तेय', ‘शुक-सप्तति संवाद', ‘भारत युद्ध में कृष्ण' आदि।