Loading... Please wait...

Othar Kanan Dayal

आर्थर कॉनन डायल

जन्म : 22 मई 1859। एडिनबर्ग। मृत्यु : 7 जुलाई 1930। विन्ड्लशैम, ससेक्स। पिता चार्ल्स अल्टामोन्ट डायल एडिनबर्ग स्थित ऑफिस ऑफ वक्र्स में बतौर सिविल सर्वेंट कार्यरत थे, परन्तु वह पेण्टर, पुस्तकों के इलस्ट्रेटर तथा आपराधिक मुकदमों के स्केच आर्टिस्ट भी थे। माँ मैरी डायल सहितियक रुचिवाली थीं और वह ऑर्थर को अच्छा साहित्य पढ़ने के लिए प्रेरित करती थीं। आरंभिक शिक्षा जेसुइट स्कूल में हुई। बाद में एडिनबर्ग विश्वविद्यालय में पढ़े। 1885 में डाक्टरी की पढ़ाई पूरी की और उस समय से 1891 तक नेत्र विशेषज्ञ के रूप में कार्यरत रहे। इसके बाद पेशेवर लेखक बन गये। 
पहली रचना एक आदमी और एक शेर की कहानी थी, जो 6 वर्ष की उम्र में लिखी। 
पहला उपन्यास ‘ए स्टडी इन स्कारलेटं 1887 में छपा। एडवेन्चर्स ऑफ शरलक होम्स, हिज लास्ट बो, हाउण्ड ऑफ वास्करविले आदि चर्चित कृतियां अपराध-कथाओं के साथ-साथ विज्ञान-कथाएं, ऐतिहासिक उपन्यास नाटक, कविता तथा कथेतर गद्य भी लिखा। 
शरलक होम्स नामक विख्यात कथा-पात्र के जन्मदाता के रूप में विश्वख्याति पायी।