Loading... Please wait...

Prahlad Agrawal

प्रह्लाद अग्रवाल

यायावर, आवारामिजाज, संगीत, साहित्य, सिनेमा से गहरी आशिकी, शासकीय स्नातकोत्तर महाविद्यालय, सतना में प्राध्यापक। प्रकाशित कृतियां : ‘हिन्दी कहानी सातवां दशक', ‘तानाशाह', ‘राजकपूर : आधी हकीकत आधा फसाना', ‘प्यासा : चिर अतृप्त गुरुदत्त', ‘कवि शैलेन्द्र : जिन्दगी की जीत में यकीन', ‘उत्ताल उमंग : सुभाष घई की फिल्मकला' और यह किताब—‘ओ रे मांझी : बिमलराय का सिनेमा', की अन्य पुस्तकों के सहयोगी लेखक। तीन दशकों से लगभग सभी पत्र-पत्रिकाओं में निरन्तर लेखन। सम्पर्क : द्वारा-उज्जवल  स्टोर्स, सुभाष पार्क, सतना।