Loading... Please wait...

Pushppal Singh

पुष्पपाल सिंह

जन्म : 4 नवम्बर, 1941, भदस्याना (मेरठ, अब गाजियाबाद, उ. प्र.) शिक्षा : मेरठ कालेज से एम. ए., कलकत्ता विश्वविद्यालय से डी. फिल. तथा जम्मू विश्वविद्यालय से डी. लिट.। पंजाबी विश्वविद्यालय, पटियाला से हिन्दी विभाग के प्रोफेसर तथा अध्यक्ष के रूप में सेवा निवृत्ति के बाद सम्प्रति विश्वविद्यालय अनुदान आयोग की शोधवृत्ति पर दो वर्ष के लिए 'सांस्कृतिक संक्रमण के सन्दर्भ में हिन्दी उपन्यास का अध्ययन' विषय पर शोधकार्य। कथाकार, स्तम्भलेखक, अनुवादक और बेबाक आलोचक। कृतियां : 'तारीख का इन्तजार' (कथा-संग्रह) 'हिन्दी कहानी आठवां दशक : 'महानगरीय संवेदना' समेत दस पुस्तकों का संपादन, 'कमलेश्वर : कहानी का सन्दर्भ', 'समकालीन कहानी : युगबोध का सन्दर्भ', 'समकालीन रचना-मुद्रा', 'हिन्दी गद्य : इधर की उपलब्धियाँ', 'हिन्दी कहानी : विश्वकोश' (दो खण्डों में), 'समकालीन हिन्दी कहानी', 'काव्य मिथक, 'आधुनिक हिन्दी कविता में महाभारत के कुछ पात्र', 'कबीर ग्रन्थावली' का सम्पूर्ण भाष्य आदि आलोचना पुस्तकें। पंजाबी की दो अनूदित पुस्तकें। पुरस्कार/सम्मान : आचार्य रामचन्द्र शुक्ल पुरस्कार (उ. प्र. हिन्दी संस्थान, लखनऊ) 1986 और शिरोमणि साहित्यकार पुरस्कार (पंजाब सरकार) 2005।