Loading... Please wait...

Rakesh Kumar Singh

राकेश कुमार सिंह

जन्म : 20 फरवरी 1960, ग्राम गुरहा, जिला पलामू (झारखण्ड)। शिक्षा : स्नातकोत्तर (रसायन विज्ञान) एवं विधि स्नातक। कृतियां-कथा संग्रह : ‘हांका और अन्य कहानियां, ‘ओह पलामू....', ‘जोड़ा हासिल की रूपकथा'। उपन्यास : ‘जहाँ खिले हैं रक्तपलाश', ‘पठार पर कोहरा', ‘जो इतिहास में नहीं है', ‘साधो, यह मुर्दों का गाँव (यन्त्रस्थ)। किशोर उपन्यास : ‘केशरीगढ़ की काली रात', ‘वैरागी वन के प्रेत', ‘नीलगढ़ी का खजाना' (सृजनाधीन)। 
 बालोपयोगी : ‘कहानियां ज्ञान की विज्ञान की' के अतिरिक्त झारखण्ड के इतिहास और संस्कृति पर ‘आदिपर्व', ‘उलगुलान', ‘अग्निपुरुष', ‘अरण्य कथाएं तथा ‘अवशेष कथा' नामक पुस्तकों की श्रृंखला। अन्यान्य : झारखण्ड का प्रतिष्ठित राधाकृष्ण सम्मान (2004), सागर-मध्यप्रदेश-का दिव्य रजत अलंकरण (2002), कथाक्रम कहानी प्रतियोगिता (2001), कथाबिम्ब कहानी प्रतियोगिता (2002) तथा कथाक्रम कहानी प्रतियोगिता (2002) तीनों में प्रथम पुरस्कार। सम्प्रति : हरप्रसाद जैन महाविद्यालय, आरा में शिक्षण। सम्पर्क : रसायन विज्ञान विभाग, हरप्रसाद दास जैन महाविद्यालय, आरा-802301 भोजपुर (बिहार)