Loading... Please wait...

Shripanth

  श्रीपान्थ

1932 में मैमनसिंह (वर्तमान बांग्लादेश) जिले के गौरीपुर में जनमे श्रीपान्थ, वास्तविक नाम निखिल सरकार, पेशे से पत्रकार थे। ऐतिहासिक एवं शोधपरक विषयों में उनकी रुचि होने के कारण वे बांग्ला साहित्य में अपनी कृतियों के माध्यम से विशिष्ट स्थान बनाने में सफल रहे। सामाजिक इतिहास के विभिन्न पक्षों पर उन्होंने रचनाएँ लिखीं, जैसे—क्रीतदास, देवदासी, ठग, हरम, मटियाबुर्ज का आखिरी नवाब, जिप्सी, उन दिनों की औरतें, ऐतिहासिक-अनैतिहासिक आदि। कुछ वर्ष पूर्व कोलकाता में निधन।