Loading... Please wait...

Sukumar Ray

सुकुमार राय

जन्म : 1887।  मृत्यु : 10 सितम्बर 1923। पिता उपेन्द्रकिशोर रायचौधुरी जाने-माने साहित्यकार और प्रकाशक थे। आठ साल की उम्र में 'नदी' शीर्षक से कविता लिखी। एक वर्ष बाद दूसरी कविता 'टिक, टिक, टौंग' की रचना की, जो बच्चों की पत्रिका 'मुकुल' में प्रकाशित हुई, जिसके साथ ही महज नौ साल की उम्र में एक सम्मभावनाशील लेखक के रूप में अपनी सार्वजनिक उपस्थिति दर्ज करायी। शिक्षा : प्रेसिडेन्सी कॉलेज, कोलकाता। हाफटोन प्रिंटिंग और फोटोग्राफी के अघ्ययन के लिए इंग्लैण्ड गये। 1914 में सुप्रभा दास से विवाह। 1921 में पुत्र सत्यजित रे का जन्म, जो आगे चलकर विश्वविख्यात फिल्मकार बने। उसी वर्ष बैक्टीरियाजनित बुखार की चपेट में आकर गंभीर रूप से बीमार पड़े। मशहूर बाल-पत्रिका 'सन्देश' का प्रकाशन, संपादन। अपनी अतियथार्थवादी दृष्टि और जबरदस्त परिहास-बोध से युक्त काव्य-कृति 'आबोल-ताबोल' बांग्ला भाषा की अमर कृति के रूप में समादृत। बांग्ला के शीर्षस्थ बाल-साहित्यकार के रूप में सर्वमान्य।