Loading... Please wait...

Peetal Ka Patila

RRP:
Rs 35.00
Your Price:
Rs 26.00 (You save Rs 9.00)
ISBN:
81-89850-93-8
Author:
Cover:
Quantity:
Bookmark and Share


Preface

पीतल का पतीला 

ये है पीतल का पतीला पॉलिश किया, पानी से भरा पीला-पीला जैसे सोना। पतीला चला जा रहा है जंगल की तरफ। पतीला है गोल, रास्ता है लम्बा। पतीला है चिकना, रास्ता है खुरदुरा। रास्ते में हैं कंकड़-पत्थर, मिट्टी, सूखी टहनियां, सूखे पेड़ों। पतीला चलता है तो आवाज आती है कड़-कड़...तड़-तड़...खड़-खड़... पड़-पड़...चड़-चड़...चड़। चलते-चलते पतीला पहुंचा जंगल। जंगल सुनसान है। सांय-सांय हवा चल रही है। बा¡स के पेड़ों से सीटी जैसी आवाज आ रही है। कोई नज़र नहीं आ रहा है। ''कोई है?....'' पतीला जोर से बोला।


Find Similar Books by Category


You Recently Viewed...